दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में लॉकडाउन के पहले तब्लीगी जमात का मरकज लगा हुआ था ज़िसमें देश-विदेश से 5 हजार से ज्यादा लोग आए थे इसमें शामिल 24 जमाती अब तक कोरोना पॉजटिव पाए गए हैं और 9 की मौत हो चुकी है।

आपको बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन का मरकज मामले का खुलासा तब हुआ जब दिल्ली में 64 साल के एक शख्स की मौत कोरोना वायरस के कारण हुई. इसके बाद प्रशासन ने जांच की और पता चलने पर पूरे सेंटर को खाली कराया गया. निजामुद्दीन मरकज में 15 देशों के जमात शामिल हुए थे. अब सरकार हर उस शख्स की तलाश कर रही है जो मरकज में शामिल हुए या फिर उनके संपर्क में आए।

आपको बता दें कि रविवार से इन्हें यहां से निकाला जा रहा है. डीटीसी की बसों के जरिए 32-32 लोगों को अलग-अलग हॉस्पिटल ले जाया जा रहा है। बसों में इन लोगों को दूर-दूर ही बैठाया जा रहा ह। यहां मौजूद प्रशासन, एनडीएमसी और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बस में बैठाए जाने से पहले लोगों की स्क्रिनिंग की जा रही है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि निजामुद्दीन मरकज को खाली करा लिया गया है। मरकज से कुल 2361 लोगों को निकाला गया है। इसमें 617 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया  है जबकि अन्य लोगों को क्वारैंटाइन में रखा गया है।

Categories: COVID19 News