भारत समेत पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस का प्रकोप झेल रही है. अगर देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,505 नए मामले सामने आए हैं. राज्य में अब कोरोना के मामले 97,200 तक पहुंच गए हैं. हालांकि राहत की बात यह है कि दिल्ली में कोरोना रिकवरी रेट में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. दिल्ली में पहली बार कोरोना रिकवरी रेट 70% के पार पहुंच गया है. इसी का असर है कि शनिवार को नए कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा ठीक होने वाले लोगों के आंकड़े से कम था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा बढ़ने पर कहा,” दिल्ली के दो करोड़ लोगों की मेहनत रंग ला रही है। दिल्ली का रिकवरी रेट 70 प्रतिशत से ऊपर जाने पर सभी कोरोना वॉरियर्स को बधाई। कोरोना को हराने के लिए अभी हम सबको और मेहनत करनी है।

अरविंद केजरीवाल ने ये भी कहा कि अब दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों को कम से कम संख्या में अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ रही है और ज्यादा से ज्यादा संख्या में संक्रमण प्रभावित घर पर ही रहकर स्वस्थ हो रहे हैं। पिछले सप्ताह रोजाना करीब 2300 कोरोना मरीज सामने आ रहे थे। अस्पतालों में दाखिल होने वाले संक्रमितों की संख्या 6200 से घटकर 5300 रह गई। आज लगभग 9300 बेड्स खाली पड़े हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली में दुनिया का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो गया है. रविवार से यहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों को आइसोलेट करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस कोविड केयर सेंटर में 10,000 बेड की क्षमता है लेकिन फिलहाल इसे 2000 बेड की सुविधा के साथ शुरू कर दिया गया है. यह सेंटर 17,00 फीट लंबा है और 700 फीट चौड़ा. इसमें 200 अहाते हैं, सभी में 50 बेड लगे हैं. इसमें में 10 फीसदी बेड्स में ऑक्सीजन की सुविधा भी उपलब्ध है. यहां भर्ती होने से लेकर डिस्चार्ज होने तक की पूरी प्रक्रिया इलेक्ट्रॉनिक है. मरीजों की जांच के लिए यहां हमेशा नर्स मौजूद रहेंगी. अथॉरिटी के मुताबिक यह सेंटर विश्व में सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर है।

Categories: COVID19 News