बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल की ड्रग्स केस में मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं. एनसीबी (NCB) के मुताबिक अर्जुन रामपाल ने जो दवाई का प्रिस्क्रिप्शन एनसीबी को दिया था उसकी तारीख में छेड़छाड़ किये जाने का शक है. जिसके चलते अर्जुन आज दोबारा एनसीबी के सामने पेश हुए हैं.

अर्जुन रामपाल के घर 9 नवंबर को छापेमारी की गई थी. इस छापेमारी में उनके घर से ट्रैमाडॉल टैब्लेट्स बरामद की गई थी. जिसका इस्तेमाल करने के लिए डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन जरूरी है. इसके बाद अर्जुन की लिव इन पार्टनर गैब्रिएला डिमिट्र‍िएड्स से दो बार पूछताछ की गई थी, वहीं अर्जुन 13 नवंबर को एनसीबी के सामने पहली बार पेश हुए थे.

इस मामले में डॉक्टर ने कहा- मैटर अभी सबजुडिस है, इसलिए उससे जुड़ी डिटेल मैं आप से शेयर नहीं कर सकता. लेकिन जो भी जरूरी बातें हैं मैंने एनसीबी को बता दी है और मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दे दिया है. मैं एनसीबी को सहयोग करूंगा.

सूत्रों के मुताबिक एनसीबी ने मुंबई के भी एक डॉक्टर का बयान लिया है. अर्जुन रामपाल के एक करीबी ने दिल्ली एक डॉक्टर को गुमराह करके बैक डेट में डॉक्टर से प्रिस्क्रिप्शन लिखवाए ताकि एनसीबी की जांच से बचा जा सके. एनसीबी ने डॉक्टर का स्टेटमेंट रिकॉर्ड किया है. डॉक्टर का बयान एनसीबी और कोर्ट के सामने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज किया गया है. डॉक्टर का यह बयान अर्जुन की गिरफ्तारी की ओर भी केस को मोड़ सकता है.

Categories: Bollywood News